kishor
OFFLINE
किशोर श्रीवास्तव
31 दिसंबर - मोतिहारी, बिहार
लेखन, कार्टून, गीत, संगीत व कॉमेडी

राष्ट्रभाषा हिंदी के प्रचार-प्रसार, सामाजिक/सांप्रदायिक विसंगतियों व सद्भाव आदि पर कॉलेज समय में तैयार की गई लगभग सौ रंगीन कार्टूनों, लघु कथाओं व छोटी-छोटी कविताओं की जन चेतना पोस्टर प्रदर्शनी ‘खरी-खरी’ नाम से देश के दर्जनों प्रदेशों के विभिन्न शहरों में सैकड़ों बार प्रदर्शित हो चुकी है।

संपर्क
दिल्ली
ऊपर जाएँ


हिंदी पत्रिका में प्रकाशित सभी रचनाओं के सर्वाधिकार संबंधित लेखकों अथवा प्रकाशकों के पास सुरक्षित हैं। लेखक अथवा प्रकाशक की लिखित स्वीकृति के बिना इनके किसी भी अंश के पुनर्प्रकाशन की अनुमति नहीं है।
Powered by AAKAR ASSOCIATES